22
March

यूपी के हाथरस जिले में एक बार फिर मानवता शर्मशार कर देने वाला मामला सामने आया है।यहां अपने घायल बच्चे के इलाज के लिए एक गरीब और लाचार माँ दर-दर भीख मांगने पर मजबूर है। इस दौरान मजबूर और लाचार मां अपने 

बच्चे को  बचाने के लिए जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्साधिकारी के आगे झोली फैलाकर भीख माँग चुकी है।लेकिन अस्पताल के चिकित्सक ने भीख तो दे दी पर इलाज ने नाम पर कुछ भी न दे सके।यहीं नहीं जब यह लाचार मां उपजिलाधिकारी कार्यालय पर शिकायत लेकर पहुंची तो एसडीएम साहब चने खाते रहे पर मजबूर माँ की आवाज उनके कानों तक नही पहुँची। पर उनके अदनीस्थो को तो तरस आ गया और उन के अधिकारी और कर्मचारियों ने मदद के नाम पर भीख दे दी ।

यूपी के हाथरस जिला अस्पताल में भर्ती अनिल नाम का आठ साल का बच्चा किलागेट क्षेत्र की लालडिग्गी बस्ती का है। जिसको नाली पर शौच करते समय सूअरों ने हमला करते हुए शरीर पर जगह-जगह काट लिया है। वहीं बच्चे की माँ ने गम्भीर  हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहाँ उसका उपचार चल रहा था।

 लेकिन उसकी हालत में कोई सुधार नही आया और डॉक्टरों ने उसको इलाज के लिये अलीगढ़ रेफर कर दिया । लेकिन इस गरीब और लाचार माँ के पास उसके इलाज के लिए इतने रुपये नही है कि वह अपने घायल बच्चे का इलाज करा सके।लेकिन बेटे के इलाज के लिए इस मजबूर माँ को भीख मांगनी पड़ रही है। जिससे उसके बच्चे का इलाज सही से हो सके और उसकी जान बच जाये। लेकिन इस गूंगे बहरे अधिकारियों के कानों तक इस गरीब माँ की आवाज तक नही पहुँच रही है ।बच्चे की माँ चाहती है कि उसके घर के आसपास घूमने वाले सूअर बाड़ों में बंद होने चाहिए।

Page 16 of 16