04
February

मेरा बेटा निर्दोष है : नसरीन

Written by 
Published in home down left

सरफराज के परिजनों ने की मजिस्ट्रेटी जाँच की मांग

घर में घुसकर तोड़फोड़ करने वाले तीनों पुलिसकर्मी हो गिरफ्तार

मेरा बेटा निर्दोष, मीडियाकर्मियों के सामने पेश किए बेगुनाही के सबूत

मैनफोर्स

लखनऊ। राजधानी की चौक पुलिस द्वारा करीब एक माह पूर्व गैंगस्टर एक्ट में निरूद्ध किये गए व्यापारी सरफराज अहमद के परिजनों ने आज पूरे मामले को षडयंत्र बताते हुए पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर मजिस्ट्रेट जांच कराने की मांग की। आज इसी के संबंध में व्यापारी सरफराज अहमद के परिजनों ने यूपी प्रेस क्लब में प़कार वार्ता की।

 

सरफराज अहमद की मां नसरीन ने पत्रकारों के सामने फोटो और वीडियो फुटेज दिखाएं। जिसमें तीन पुलिस कर्मी वर्दी पहने हुए सरफराज के घर से सीसीटीवी रिकार्डर और तमाम कागजात उठाते हुए दिखाई दिये। नसरीन के अनुसार उनके बेटे को कानूनी शिकंजे में फंसाने की धमकियां बहुत दिनों से दी जा रही थीं। नसरीन ने कहाकि इस पूरे मामले को लखनऊ पुलिस के कुछ भ्रष्ट कर्मचारियों और आसामाजिक तत्वों के गठजोड़ का गठजोड है। नसरीन ने कहा कि सरफराज को कुछ पुलिसकर्मी दिन दहाड़े दुकान से उठाकर ले गए थे और उसी रात चौक पुलिस ने टप्पेबाजी का मामला दिखाकर सरफराज को जेल भेज दिया। तब से सरफराज के परिजन अपने बेटे की जमानत कराने के लिए उसकी बेगुनाही के सबूत लेकर लखनऊ पुलिस और जिला प्रशासन के दरवाजे खटखटा रहे हैं।

 

नसरीन के अनुसार जैसे ही सरफराज की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में पूरी वारदात मौजूद होने की जानकारी चौक पुलिस को हुई, वैसे ही पुलिस टीम ने सरफराज के घर पर दबिश देकर सीसीटीवी संयंत्र नष्ट कर दिये और रिकार्डर-बैंक पासबुक सहित अनेक कागजात उठाकर ले गए। सरफराज के परिजनों ने गैरकानूनी दबिश देने वाले तथा दुकान से सरफराज का अपहरण करने वाले पुलिसकर्मियों की तलाश और गिरफ्तारी की मांग लखनऊ के जिलाधिकारी से की है।

 

 

 

Read 316 times Last modified on Monday, 04 February 2019 17:38
Rate this item
(57 votes)

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.