18
April

बलात्कारियों को मिलेगा मृत्युदंड : योगी

Written by 
Published in home down left

केंद्र सरकार को जल्द ही प्रस्ताव भेजेगी सरकार 

अधिकारी अपने-अपने कार्यक्षेत्र में प्रतिदिन फुट पैट्रोलिंग करेंगे

प्रत्येक जनपद के लिए ट्रैफिक प्लान बनाया जाए

लखनऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों तथा अराजक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि अपराध और भ्रष्टाचार के मामलों में राज्य सरकार की जीरो टाॅलरेन्स नीति है। इस पर कोई समझौता नहीं किया जाता। मुख्यमंत्री बुधवार को शास्त्री भवन में आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में महिला सुरक्षा एवं कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आपराधिक घटनाओं की रोकथाम के लिए बीट काॅन्सटेबल से लेकर जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तक जवाबदेही तय की जाए। वरिष्ठ अधिकारी इस पर निगाह रखें और जिस भी स्तर पर लापरवाही पायी जाए, उस सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाए। योगी ने महिला उत्पीड़न से जुड़ी घटनाओं पर प्रभावी कार्रवाई के निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार महिलाओं की गरिमा बनाए रखने तथा उन्हें हर प्रकार की सुरक्षा प्रदान करने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि दुराचारियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाना आवश्यक है। नाबालिग बालिकाओं से बलात्कार करने वालों को मृत्युदण्ड दिए जाने के लिए कानून में आवश्यक प्राविधान करने के सम्बन्ध में राज्य सरकार द्वारा केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजा जा रहा है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘1090’ विमेन पावर लाइन को प्रभावी बनाया जाए। इस सेवा का सुदृढ़ीकरण एवं विस्तार करते हुए इसे डायल-100 तथा एण्टी रोमियो स्क्वाॅयड के साथ जोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि हर स्तर के अधिकारी अपने-अपने कार्यक्षेत्र में प्रतिदिन फुट पैट्रोलिंग करें तथा इस दौरान आम जनता से संवाद स्थापित करते हुए पुलिस की कार्यप्रणाली के सम्बन्ध में फीडबैक भी प्राप्त करें। योगी ने कहा कि जनपद स्तर पर जिलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सामाजिक संगठनों, शैक्षणिक संस्थाओं, महिला संगठनों आदि के साथ नियमित संवाद बनाकर ‘1090’ सहित विभिन्न पुलिस सेवाओं के बारे में लोगों को जागरूक करें। उन्होंने यातायात व्यवस्था को ठीक रखने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रत्येक जनपद के लिए टैªफिक प्लान बनाया जाए। साथ ही, लोगों को यातायात नियमों और सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में जागरूक भी किया जाए। मुख्यमंत्री ने साफ-सुथरी छवि के अधिकारियों को थानाध्यक्ष के तौर पर तैनात किए जाने पर बल देते हुए कहा कि वरिष्ठ अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि दागी छवि के लोग कहीं पर भी थानाध्यक्ष न बनाए जाएं। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि आई0जी0 तथा ए0डी0जी0 स्तर के पुलिस अधिकारी नियमित तौर पर जिलों का भ्रमण करते हुए थाना स्तर पर अपराध नियंत्रण और कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करें। उन्होंने कहा कि अपनी दिक्कतों को लेकर थाने में आने वाले लोगों के साथ पूरा न्याय होना चाहिए। इस अवसर पर प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार, पुलिस महानिदेशक ओ0पी0 सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

 

 

 

Read 329 times Last modified on Wednesday, 18 April 2018 15:39
Rate this item
(7 votes)

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.